Saturday, October 20

अच्छे दिन: 2010 के स्तर पर पहुंचीं ब्याज दरें, एशिया में RBI ने की पहली कटौती

मुंबई, 02 August 2017
भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बुधवार को प्रमुख ब्याज दरों में 25 आधार अंकों की कटौती की है. केन्द्रीय बैंक ने यह कदम कमजोर मुद्रास्फीति और मांग में आई गिरावट को देखते हुए उठाया है.
शीर्ष बैंक द्वारा लगातार चार मौद्रिक नीति समीक्षा के बाद यह कटौती की गई है. पिछली बार यह कटौती 2016 के अक्टूबर मौद्रिक समीक्षा में की गई थी. उस समय ने आरबीआई ने प्रमुख ब्याज दरों में 25 आधार अंकों की कटौती की थी. इस कटौती के साथ ही रेपो रेट साढ़े 6 साल के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया है. रिजर्व बैंक के आंकड़ों के मुताबिक पिछली बार नवंबर 2010 में रेपो रेट 6 फीसदी के स्तर पर था.
इसके साथ ही एशिया में किसी भी केन्द्रीय बैंक द्वारा ब्याज दरों में साल 2017 की यह पहली कटौती है. गौरतलब है कि 2017 के दौरान किसी एशियाई देश में वैश्विक संकेतों के चलते ब्याज दरों में कटौती को अंजाम नहीं दिया जा रहा है. लेकिन रिजर्व बैंक द्वारा लिया गया यह साहसिक कदम महंगाई के निम्न स्तर और अच्छे मानसून की उम्मीद के चलते मुमकिन हो सका है. हालांकि, अपनी नीति में रिजर्व बैंक ने अगाह भी किया है कि आने वाले दिनों में महंगाई का खतरा अभी टला नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *