Tuesday, August 21

रविन्द्र अजनबी

शासन से जवाब मांगती ये कविता 📝📝

कहां गई वो जुमलेबाजी रोजगार वो कहां गए
अच्छे दिन बतलाने वाले समाचार वो कहां गए

करने वाला था जो रोशन सूरज बन वो कहां गया
कहां गया 15 लाख अब काला धन वो कहां गया

झुलस रहा है काश्मीर और कैसे इसमें जीना है
कहां गए जो बता रहे थे 56 इंची सीना है

उम्मीदों पर खरा उतरने का कोई पाबंद करो
कुछ न करो पर मोदी जी अब जुमलेबाजी बंद करो

📖📖📖📖📖📖📖📖📖📖📖📖📖📖

कवि – रविन्द्र अजनबी

पता – बाहूपुर पट्टी , प्रतापगढ़ , u.p.

पिन – 230405

मो. न. – 8115191936

4 Comments

  • अविनाश शर्मा

    लेकिन सच्चाई के रास्ते पर चलने पर कांटे बहुत आते है रास्ते मे मगर भगवान साथ देते है
    और गलत रास्ते पर चलने वालों के रास्ते मे कांटे भले ही न आये मगर भगवान साथ नही देते

  • अविनाश शर्मा

    इसी प्रकार मोदी जी सच्चाई के रास्ते पे निकल पड़े है
    थोड़ा समय दीजिये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *