Tuesday, August 21

योगेन्द्र शर्मा “योगी”

शायरी…..🚩🚩🚩🚩

रौंद कर पैरों तले

जो ख्वाब सारे मल दिये,

वो कातिल कहाँ कोई गैर थे

जो कत्ल करके चल दिये।।

 

युवा कवि- योगेन्द्र शर्मा “योगी”

ग्राम- भीषमपुर,चकिया, चन्दौली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *