Tuesday, August 21

शम्भू नाथ शर्मा “दरदी “

  गीत क्या है………

व्यथा ही गीत बनती है ,
व्यथा संगीत बनती है ,
व्यथा गाथा करुण स्वर में हो ,
कोकिल गीत बनती है |

शम्भू नाथ शर्मा “दरदी “
भीषमपुर ,चकिया ,चन्दौली , u.p.

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *